Corona: एक वैश्विक महामारी

by Pankaj Kumar
corona

जैसा कि आप सभी जानते है कि Corona वायरस महामारी ने पुरे विश्व मे उत्पात मचा रख है आज हम आप सभी को कोरोना वायरस के बारे मे बतायेंगे और इसकी स्मग्र जानकारी आपको इस् लेख के माध्यम से करवाएँगे।

Corona वायरस क्या है :

Corona वायरस SARS-CoV-2 के नाम से जाना जाता हैजो कि Coronaviridae परिवार के अंतर्गत आता है । Corona का अर्थ लैटिन भाषा मे “हार अथवामाला” होता है। Corona वायरस को पहले जानवरों के अंदर पाया जाता था परंतु अब यह इंसान मे भी पाया जाने लगा है. इसका आकार गोलाकार होता है तथा इसका व्यास 50-200 nm होता है।

उत्पत्ति :

Corona वायरस कि उत्पत्ति सर्वप्रथम वर्ष 2003 में CoV(SARS-CoV) Severe Acute Respiratory Synsromeके नाम से हुई थी तथा उसके बाद यह वर्ष 2012 मे CoV(MERS-CoV) Middle East Respiratory Syndrome के नाम से आया। इन वायरस कि वजह से  भी बहुत लोगों की जान गयी परंतु जो वायरस 2019 मे SARS-CoV-2 (COVID-19) के नाम से आया उसने तो पुरे विश्वं को हिलाकर रख  दिया है ।

सर्वप्रथम इस वायरस को दिसंबर 2019 में चीन के वुहान शहर मे देखा गया. उसके बाद तो यह पुरे विश्व मे आग कि तरह फैल गया।

वायरस के संचार माध्यम :

क्योंकि,सबसे पहले यह ये वायरस चीन के सी-फूड बाजार से आया तो ये माना गया कि इसका संचार जानवरों से इंसान में हुआ है। परंतु बाद मे जो लोग इस वायरस से संकर्मित पाये गये उनमें जानवरों का कोइ संबन्ध नहीं था। जिस से यह साबित हो गया कि यह वायरस इंसानी प्रजाति से भी फैल सकता है। इस वायरस का संचार इंसानी शरीर मे काफी माध्यम से हो सकता है जो इस प्रकार है।

  • अगर Corona से संक्रमित कोई व्यक्ति खांसता या छींकता है तो उस प्रक्रिया में उसके मुंह या नाक से कुछ बूंदें गिरती हैं, इनसे Corona का संक्रमण हो सकता है।
  • Corona के संक्रमण फैलने की चार वजह हो सकती है आप संक्रमित व्यक्ति के पास कितनी देर रहे? आप उसके कितने पास गए? क्या उस व्यक्ति के छींकने या खांसने की वजह से आपको छींटे पड़े? आपने अपने चेहरे को कितनी बार छुआ ?

Corona वायरस के लक्षण क्या हैं :

Corona वायरस से संक्रमित व्यक्ति को सबसे पहले सांस लेने में दिक्कत, गले में दर्द, जुकाम, खांसी और बुखार होता है, फिर यह बुखार निमोनिया का रूप ले सकता है और निमोनिया किडनी से जुड़ी कई तरह की दिक्कतों को बढ़ा सकता है।

Corona वायरस से बचने के तरीके क्या हैं :

  • पहली और अहम बात है कि जब तक कोरोना वायरस का प्रकोप शांत नहीं हो जाता, जितना हो सके सी-फूड से दूर रहें।
  • साफ-सफाई कोरोना वायरस से बचने का दूसरा और जरूरी तरीका है। कहीं भी बाहर से आने या कुछ भी खाने से पहले अपने हाथ अच्छी तरह साफ करें। सिर्फ पानी से नहीं बल्कि साबुन या हैंडवॉश से धोएं।
  • अपने साथ हैंड सेनिटाइजर हमेशा रखें। जहां पानी से हाथ धोने की व्यवस्था ना हो, वहां इसका इस्तेमाल करें।
  • पब्लिक ट्रांसपोर्ट का यूज करने के बाद हाथ साफ किए बिना उन्हें अपने चेहरे और मुंह पर ना लगाएं।
  • बीमार लोगों की देखभाल के दौरान अपनी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें। अपनी नाक और मुंह को कवर करके रखें। उनके इस्तेमाल किए हुए बर्तन और कपड़ों का उपयोग करने से बचें।

Corona वायरस आपके लिये कितना खतरनाक है :

Corona वायरस अगर लंबे समय तक अपना प्रभाव बनाए रखने में सफल हो जाए या घातक स्तर पर पहुंच जाए तो जान के लिए खतरा पैदा कर सकता है।  इस दौरान दुनियाभर से लाखों लोगों की मौत होने की खबरें आ रही हैं।

अगर आपको सर्दी-जुखाम है तो इसे सीजनल फ्लू समझने की गलती न करें। कोरोना वायरस के लक्षण को पहचाने और अपनी जांच करवाएं। कोरोना वायरस से बचने के लिये जहां तक हो सके तो बाहर निकलते वक्‍त मास्‍क का उपयोग करें। इसके अलावा अपने हाथों को बार बार धोएं और अगर किसी चीज को टच किया है तो मुंह को छूने से बचें।

निष्कर्ष:

Corona वायरस ने पुरे विश्व को हिला कर रख दिया है विश्व के सारे मुल्क़ इस् लाइलाज बीमारी से दिनरात लड़ रहे है डॉक्टर और नर्स मिलकर इस गंभीर बिमारी से निपट रहे है उनकी जितनी भी सराहना की जाये उतनी कम होगी हमारे देश के प्रधानसेवक श्री नरेंद्र मोदी जी ने जो कठोर कदम लिये है वो बहुत शानदार है तथा हमे एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते उनका सम्मान करना चाहिये जिस से वो इस महामारी को हराने मे एक सकारात्मक भुमिका निभा सकें जिस से हमारे जीवन की गाड़ी दोबारा पटरी पर आ सके और हम दोबारा उसी प्रकार जीवन जी सकें

Related Posts

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy